Home > Uncategorized > स्कूल शिक्षा के साथ ही मोदी सरकार मिलिट्री ट्रेनिंग अनिवार्य करने जा रही है।

स्कूल शिक्षा के साथ ही मोदी सरकार मिलिट्री ट्रेनिंग अनिवार्य करने जा रही है।

नमस्कार दोस्तो आज आपको एक बहुत बड़ी खबर देने जा रहे हैं जी हां स्कूल शिक्षा के साथ ही मोदी सरकार मिलिट्री ट्रेनिंग अनिवार्य करने जा रही है। जी हां मिलिट्री की अनिवार्य करने की योजना है! सरकार की मंशा है कि दसवीं और बारहवीं में पढ़ने वाले 1000000 लड़के लड़कियों की मिलिट्री ट्रेनिंग अनिवार्य होगी दसवीं और बारहवीं में पढ़ने वाले छात्र

छात्राओं को हर साल मैट्रिक ट्रेनिंग का प्रशिक्षण दिया जाएगा इस बात पर भी विचार किया जा रहा है कि भविष्य में सेना पुलिस या पैरामिलिट्री फोर्स में भर्ती होने इच्छुक नौजवानों के लिए यह ट्रेनिंग अनिवार्य कर दी जाए योजना को नेशनल यूथ एंप्लॉयमेंट स्किन यानी एन वाई एस का नाम दिया है जिसके तहत 12 महीने ट्रेनिंग देने वाले नौजवानों को सरकार

स्थापन भी दे देगी, अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के अनुसार पिछले महीने PMO ने इस योजना को लेकर रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बैठक की थी इस योजना के साथ ट्रेनिग लेने वाला लड़को अव लड़कियों को सरकार वेतन भी देगी

  1. 10वी 12वी में सैन्य प्रशिक्षण देने की योजना
  2. 10 लाख नौजवानों को मिलिट्री ट्रेनिंग देने की योजना
  3. 12 महीने की मिलिट्री ट्रेनिंग दी जाएगी वतन भी मिलेगा
  4. नेशनल यूथ एंप्लॉयमेंट स्कीम यानी N-YES होगा नाम
  5. NCC को मजबूत और सक्रिय बनाने पर विचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.