Home > Uncategorized > जन आशीर्वाद यात्रा पर निकले शिवराज का राहुल से सवाल, प्याज जमीन के ऊपर होता है या नीचे

जन आशीर्वाद यात्रा पर निकले शिवराज का राहुल से सवाल, प्याज जमीन के ऊपर होता है या नीचे

किसानों के मुद्दे को लेकर मंदसौर में रैली करने वाले कांग्रेस अध्यक्ष पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बोला जोरदार हमला, जिन्हें मिर्च व प्याज का अंतर पता नहीं, वह किसनों की बात क्या करेंगे, मध्य प्रदेश के गांव व गलियों में घूमकर देखें, तब पता चलेगा कि जिस बीमारू राज्य को कांग्रेस ने हमें सौंपा था, उसकी वास्तविक स्थिति क्या है?

मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस पार्टी व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पर जोरदार निशाना साधा है। जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान उज्जैन पहुंचे शिवराज सिंह चौहान ने किसानों के मसले पर कांग्रेस की ओर से हो रही राजनीति पर तंज कसा है। सीएम शिवराज के जन आशीर्वाद यात्रा में जुटने वाली भीड़ ने कांग्रेस के सामने भी मुसीबत खड़ी कर दी है। पिछले पांच वर्षों के शासनकाल की उपलब्धियों को गिनाने व राज्य की सत्ता पर अपनी पकड़ बरकरार रखने के लिए सीएम शिवराज ने यह यात्रा शुरू की है।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस ने 2003 में हमारे लिए एक बीमारू राज्य छोड़ा था। जन सुविधाओं का अभाव था। सड़कें बदहाल थीं। किसान बेहाल थे। कांग्रेस अध्यक्ष को मध्य प्रदेश की क्या समझ है? उन्होंने गांव नहीं देखे। गांव की गलियां नहीं देखी। न खेत जानते हैं, न खेती। उन्हें तो किसानों द्वारा उपजाए जाने वाले मिर्च व प्याज का भी अंतर पता नहीं। मिर्च व प्याज में से कौन सी फसल जमीन के ऊपर होती है और कौन सी जमीन के नीचे, यह भी उन्हें पता नहीं होगा।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सरकार-सरकार में फर्क है। हम आम गरीबों का घर बनवाने का प्रयास कर रहे हैं। सबका पक्का मकान बनकर रहेगा। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और राज्य में हमारी सरकार इसके लिए कृतसंकल्प है। हमने गरीब बहनों के मुस्कुराने की व्यवस्था की है। उनके लिए योजनाएं तैयार की है। हम केवल किसानों की बात ही नहीं करते, किसानों की बेहतरी के लिए काम करते हैं। सीएम शिवराज सिंह चौहान के हमलों का जवाब अब कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ व ज्योतिरात्य सिंधिया को देना है। अभी सीएम शिवराज के तेवर के आगे मध्य प्रदेश के लोगों का साथ भी मिलता दिख रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.